इसमें छुपा है सेहत का खज़ाना, ये नहीं खाया तो क्या खाया





आंवले, सेहतमंद बने रहने के लिए कितना फायदेमंद है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है की इसका विशेषता केवल आयुर्वेद में ही नहीं बल्कि एलोपैथ सहित विभिन्न चिकित्सा पद्धतियों में देखने को मिलता है। न्यूट्रिशन एक्सपर्ट के अनुसार एक आंवले में दो संतरे जितनी विटामिन सी पाया जाता है। इसके अलावा, आंवले पोलीफेनॉल्स, आयरन, जिंक, कैरोटीन, फाइबर, विटामिन बी कांप्लेक्स,

कैल्शियम, एंटीऑक्सीडेंट्स आदि अच्छी मात्रा में होते हैं। आंवले के 10 सबसे कारगर फायदों के बारे में बता रहा हूँ , जो सेहत से जुड़ी आपकी कई समस्याओं का हल कर सकता हैं। जी हाँ वजन घटने से लेकर डायबिटीज, स्किन डिसीज, कब्ज, लीवर, बालों झरना या सफ़ेद होने की समस्या, यदस्त शक्ति मेमोरी पॉवर, जोड़ों के दर्द एवं केंसर जैसे खतरनाक बिमारियों को रोकने के लिए आमले का सेवन करना फायदेमं माना जाता है . में अमला मोटापा कम कर वजन को संतुलित रखता है . आंवला खाने से शरीर में प्रोटीन का स्तर बढ़ता है और नाइट्रोजन संतुलन में रहता है जिससे फैट्स बर्न होता है पिघलता है और इससे अगर आपका वजन ज्यादा है तो घटाने व संतुलित रखने में मदद मिलता है।

अमला कब्ज को दूर कर पाचनतंत्र को मजबूत करता है. आंवला में फाइबर की भरपूर मात्र पाई जाती है। अमला का सेवन करने से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक साफ रहता है और यह शरीर के टॉक्सिन को दूर रखता है। अमले का कसैला स्वाद शरीर में पाचन क्रिया को ठीक रखने वाले एन्जाइम्स को सक्रिय करता है जिससे एसिडिटी कम करने में आसानी होती है। इसलिए कब्ज और पेट सम्बन्धी रोगों के लिए आमला को रामबन माना गया है . डायबिटीज को कण्ट्रोल करता है . आंवले सेवन करने से शरीर में शुगर लेवल संतुलित रहता है। आमले में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स क्रीएटिनाइन के सीरम का स्तर भी नार्मल करता है और हमरे शरीर में ऑक्सीडेटिव तत्व को घटाता है जिस कारण ग्लूकोज लेवल नियंत्रित रहता है।




आमला स्किन रोग का अचूक दावा है आंवले में एंटीऑक्सीडेंट्स और विटामिन सी भरपूर मात्रा में होते हैं जो त्वचा को सेहतमंद रखने और शरीर से टॉक्सिसन को दूर करते हैं। आमले के नियमित सेवन करने से मुहांसे और झुर्रियों की समस्या दूर हो जाती है। आमला बालों को असमय सफ़ेद होने एवं झरने से बचाता है. आंवले में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स अच्छी मात्रा में हैं जो बालों के प्राकृतिक रंग को बरकरार रखते हैं और यह बालों के लिए प्राकृतिक कंडिशनर का काम करता है। इसकारण बालों से सम्बन्धी समस्या से निजत दिलाने में मदद करता है . कोलेस्ट्रॉल घटाता है आमले में विटामिन सी, अमीनो एसिड व पेसटिन पाया जाता हैं जो हमारे शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाते हैं और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं।

यह आर्ट्रीज तथा रक्त कोशिकाओं में फैट्स जमने नहीं देता है। जिससे ब्लड सर्कुलेशन सही से कम करता है और ह्रदय रोग से भी बचाता है . दिमागी शक्ति बढ़ता है आंवले में एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं जो दिमाग की कोशिकाओं मजबूत बनता है और इसे नष्ट होने से बचाते हैं और आमले में मौजूद नियोपाइनफ्राइन नामक पदार्थ दिमाग से जुड़ी क्रियाओं को नियंत्रित रखता है। जिससे भूलने की बीमारी दूर होती है . आमला आँखों में फायदेमंद है आमले में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स रेटीना को ऑक्सीडाइज होने से रोकता हैं। आमले के नियमित सेवन करने से मोतियाबिंद व रतौंधी जैसी बीमारी की समस्याओं से बचा जा सकता है।

आमला गठिया एवं जोड़ों की दावा आमले में एंटी इन्फ्लामेट्री तत्व पाया जाता है जो गठिया और जोड़ों में होने वाले दर्द और सूजन को कम करने में लाभदायक सवित होते है। आमले में मौजूद विटामिन सी हमारे शरीर में कैल्शियम के पाचन में सहायता करता है जिससे ऑस्टियोपोरोसिस जैसे रोगों से भी बचने में मदद मिलता है। केंसर से बचाता है आंवला में एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्र में होता जो कार्सिनोजेनिक कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते हैं और कैंसर रोधी कोशिकाओ को मजबूत करता है और हमारे शारीर में कैंसर की बीमारी होने से बचाव करते हैं।