सुबह हैवी नाश्ता करने से कंट्रोल होता है वजन

ये बात तो सभी जानते हैं कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ ईश्वर का निवास होता है. जब हम पूर्ण रुप से स्वस्थ रहते हैं तो हमारे अंदर काम करने की प्रेरणा मिलती है और हम उस काम को दिल लगाकर करते हैं. इसलिए अपने शरीर को पूरी तरह स्वस्थ बनाने के लिए हमें खान-पान पर ज्यादा ध्यान देने की जरुरत है.

इसके लिए सुबह का नाश्ता दिन का सबसे महत्वपूर्ण आहार माना जाता है. मगर कुछ लोग अपना नाश्ता चुनने में गलती कर देते हैं, जिसका खामियाजा हमारे सेहत पर पड़ता है. नाश्ते में या तो हम बहुत ज्यादा मात्रा में शुगर प्रोडक्ट्स लेने लगते हैं या फैट की असंतुलित मात्रा लेना शुरू कर देते हैं. ऐसे में जो लोग वजन कम करने की कोशिश में होते हैं उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है.

अमरीका के लोमा लिंडा यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर और पब्लिक हैल्थ में करीब 50 हजार लोगों पर हुई रिसर्च के अनुसार सुबह का हैवी नाश्ता बॉडी मास इंडेक्स को कम रखकर वजन नियंत्रित रखता है.

घी के फायदे जानकर दंग रह जायेंग

अब जाने सुबह नाश्ता करने के निम्न फायदे :

1- सुबह का नास्ता हमारे लिए काफी जरुरी है, क्योंकि पिछले रात को किये गए भोजन के बाद से पेट में कुछ नहीं गया होता है. यानि लगभग 10 -12 घंटे से शरीर और दिमाग को पोषक तत्व नहीं मिले हैं, जिसे हम सुबह हैवी नाश्ता करके पुरा करते हैं.

2- सुबह का नाश्ता नहीं करने से ब्लड शुगर लेवल पर असर पड़ता है, जो गुस्से और चिड़चिड़ेपन का कारन बन जाता है. ऐसा ब्लड में शुगर कम होने की वजह से होता है. जब ब्लड शुगर लेवल कम होता है तो गुस्सा आना स्वाभाविक होता है क्योंकि इसके असर से थकान भी लगती है और सोचने समझने की शक्ति पर भी असर पड़ता है.

3- जब भी भूख लगती है तो पेट में एसिड बनता है. सुबह का नाश्ता नहीं करने पर यह एसिड पेट की दिवार तथा भोजन नली को नुकसान पहुंचाता है. इसके कारण एसिडिटी की समस्या पैदा हो सकती है, इसलिए सुबह का नास्ता जरुर करें.

4- सुबह का नाश्ता नहीं करने वाले लोगों में इन्सुलिन रेसिस्टेंस, टाइप 2 डायबिटीज तथा मोटापा बढ़ने का खतरा अधिक होता है. इससे ब्लड प्रेशर बढ़ने तथा ह्रदय रोग होने की संभावना भी बढ़ जाती है.

5- दिमाग को रात के समय भी पर्याप्त मात्रा में ग्लूकोज की आवश्यकता होती है. जब हम खाना नहीं खाते तब ऊर्जा के लिए ग्लूकोज लीवर से प्राप्त होता है. यह ग्लूकोज लीवर में ग्लाइकोजेन के रूप में संग्रह किया हुआ रहता है. हो सकता है कि जरुरत के समय ग्लूकोज की सप्लाई के लिए लीवर में पर्याप्त मात्रा में ग्लाइकोजेन का संग्रह ना हो. ऐसा होने से शरीर में कोर्टिसोल नामक तनाव का हार्मोन बढ़ जाता है.

6- कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें लगता है कि नाश्ते में कम खाने से वजन कंट्रोल में रहेगा. लेकिन ऐसा नहीं है. यदि आप नाश्ते में कम खाएंगें तो आपको हर थोड़ी देर में भूख लगेगी जिससे आप अधिक कैलोरी और फैट्स वाले फूड्स खाएंगें. इसलिए आपको नाश्ते में फाइबर वाले फूड्स खाने चाहिए ताकि आपका पेट लंबे समय तक भरा रहे.

7- कई लोग नाश्ते में जंक फूड्स खाते हैं. ऐसा करने से अनियमित रूप से वजन बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए आपको नाश्ते में हेल्दी फूड्स ही खाने की कोशिश करनी चाहिए ताकि ना सिर्फ आपका वजन कंट्रोल में रहे बल्कि शरीर भी स्वस्थ रहे.

8- जूस में फाइबर की मात्रा नहीं होती. वहीं ताजे फलों में फाइबर की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है. ऐसे में सुबह के नाश्ते में फलों के जूस की बजाय फल खाना ज्यादा सेहतमंद होता है. इससे आपको बार-बार भूख नहीं लगती है. वजन को नियंत्रित रखने में यह काफी कारगर होता है.

तो ये थी हमारी सुबह की हैवी नाश्ते की टिप्स, इस बात पर अमल कर आप लोग स्वस्थ रह सकते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी बचपन में जहां चाय बेचते थे, वहां बनेगा पर्यटन स्थल