300 बीमारियों का इलाज छुपा है इसमें





नमस्कार दोस्तों, घरेलु नुस्खा में आपका स्वागत है। हर बार की तरह एक बार फिर हम एक नया घरेलु नुस्खा लेकर हाजिर है। दोस्तों, इससे पूर्व हमने कई प्रकार के घरेलु उपाय आपको बता रखा है जो भिन्न-भिन्न प्रकार की बिमारी में फायदेमंद रहा है। आज भी हम एक ऐसे बीमारी का घरेलु उपचार बताने जा रहे है। जो अमीबारुग्णता में फायदेमंद है। 300 bimariyo ka elaj chupa hai esme

दोस्तों, इस रोग के उपचार जानने से पहले जानते है कि ये रोग कैसे होता है और होने के बाद यह जीवन के लिए कितना घातक है। अमीबारुग्णता एक परजीवी संक्रमण है जो शरीर के लिए घातक है। आमतौर पर यह रोग गंदगी से फैलती है लेकिन यदि स्वास्थ्य का ख्याल उचित तरीके से नहीं रखा जाये तो इस प्रकार की बीमारी होने की पूरी संभावना होती है। इस रोग के होने के एक अन्य कारण है और वो शरीर के किसी हिस्सों को पर्याप्त मात्रा में पानी और भोजन नहीं मिलना है। 300 bimariyo ka elaj chupa hai esme





दोस्तों, जब हम भोजन करते है तो हमें ऐसा लगता है कि यदि रोजाना भरपेट खाना खाया जाये तो हम कभी बीमार नहीं पड़ेंगे। यदि आप भी इस तरह की सोच रखते है तो आप गलत है। भरपेट भोजन लेने के बाबजूद हमारे शरीर के सभी हिस्सों को पर्याप्त मात्रा में नयूट्रिशन नहीं मिलता है जिस कारण कई प्रकार की बिमारियों से हमें जूझना पड़ता है। अमीबारुग्णता रोग भोजन और पानी की इसी कमी से होती है। डॉक्टर्स इसके लिए हमेशा स्वच्छ और स्वस्थ रहने की सलाह देते है। आमतौर पर ये बीमारी मजदुर तबके के लोगों को होता है परन्तु कभी-कभी लापरवाही के कारण ये आम लोगों को भी हो जाती है।

अमीबारुग्णता के लक्षण
रक्त मल, उल्टियाँ, डायरिया, पेट दर्द, जी मचलना, पेट फूलना, दस्त,बुखार, वजन का एकदम घटना
,मरोड़ें आना, भूख न लगना, थकान

300 bimariyo ka elaj chupa hai esme अब इसके घरेलु उपाय जानते है

सहजन फली

सहजन के 450 ग्रा फली लें, अब मिक्सर की मदद से इसका रस निकाले लें। अब निकाले हुए रस में कुछ बून्द सेसम की तेल डाले। इसी अच्छी तरह से मिक्स कर लें और इसे आग पर गुनगुना गर्म होने के लिए रखे। जब यह गुनगुना गर्म हो जाये तो इसे आग से उतार लें। अब इसे ठंडा कर किसी बॉटल में रख लें और इसका नित्य दवा के रूप में सुबह शाम एक चम्मच पियें। इससे अमीबारुग्णता में आराम मिलेगा।

बेल
बेल एक ऐसा फल है जिसमें कई एंटी बैक्टीरियल तत्व होतें है। जो शरीर के कीटाणुओं को खत्म करने में उपयोगी है। अमीबारुग्णता के उपचार के लिए बेल का शर्बत रामबाण है।

ब्लैक टी

आजकल डॉक्टर्स भी ब्लैक टी पीने की सलाह देते है। इसमें कई एंटी टॉक्सिक और एंटी पेरसिटिक तत्व होते हैं। जो पाचन तंत्र को मजबूत करता है । इसका सेवन अवश्य करना चाहिए। ये अमीबारुग्णता में लाभदायक है।

Domestic recipe is a channel that teaches you the natural way to become beautiful properties. Domestic recipe Channels fruit benefits, domestic and household tips about tips that I use tells you you can create beautiful and healthy health.

एक चुटकी फिटकरी से कई बिमारी गायब