पेशाब में संक्रमण जलन का इलाज




उरिनरी ट्रेक इन्फेक्शन UTI यानि पेशाब में संक्रमण जलन और पस या मावत आने की समस्या से निजात दिलाने का घरेलु उपाय जी हां या E कोली नाम के बेक्टीरिया के कारण मूत्र में संक्रमण बनता है.यह पेशाब को ज्यादा देर तक रोकने या सुगर डायबिटीज के कारण हो सकता है.प्रेग्नेंट माता बहनों को भी हो सकता है और मासिक धर्म के दिनों में साफ़ सफाई की कमी के कारण भी यह हो सकता है.पानी कम पिने वाले को यह बीमारी ज्यादा देखा गया है.सबसे पहले इसके लक्षण के बारे में बता देता हूँ बार बार पेशाब आना पेशाब का गधा पिला होना पेशाब के वक्त जलन व दर्द होना .पेशाब से ज्यादा बदबू आना कमर के निचे दर्द गुप्तांगों में खुजली व कभी कभी बुखार आना ये सब इसके लक्षण है .

 




लकवा का देशी उपचार |पक्षघात का घरेलु उपाय

इसका उपाय नोट कर लीजिये रोजाना ४ से 5 लीटर पानी पीजिये मुली का जूस १ गलास रोजन पीजिये या १ चम्मच सेव का सिरका १ चम्मच निम्बू का रस और १ चम्मच शहद मिला कर सेवन कीजिये . बेकिंग सोदा १ चम्मच १ गिलास पानी में दल के पीजिये.यह उपाय आप १ सप्ताह कीजिये फिर हमें बताईये क्या पोजीशन है Gharelu Nuskhe,Home Remedies in Hindi,peshab me jalan ka ilaj in hindi,treatment of uti infection,urine infection ka ilaj,peshab ki bimari ka ilaj how to slouation urinary tract infection problem,diabetes ka gharelu ilaj,पेशाब में जलन और दर्द का इलाज के आसान उपाय,urine ka ilaj,peshab pila aana treatment,peshab ki bimari se nijaat,uti problem solution,पेशाब में संक्रमण जलन का इलाज,mutra rog ka ilaj,benefit of lemon,benefit of honey,desi upchar,benefit of sirka

.घरेलू नुस्खा एक ऐसा चैनल है जो आपको प्राकृतिक तरीके से खूबसूरत बनने के गुण सिखाता है। घरेलु नुस्खा चैनल आपको फलों के फायदे , घरेलु टिप्स और घरेलु नुस्खों के बारे मैं बताता है जिनके इस्तेमाल से आप अपने आपको खूबसूरत और सेहत मंद बना सकते हो।

जानिए जाधव की परिवार से मुलाक़ात पर पाकिस्तानी क्या कह रहे हैं