अस्थमा और आँखों के लिए अमृत इसके फायदे जानकर दंग रह जाएंगे आप





अस्थमा और आँखों के लिए अमृत है सिंघारा.

पानी फल के नाम से प्रसिद्ध सिंघाड़ा हर किसी का पसंदीदा मन जाता है। सिंघाड़े जितना स्वादिष्ट होता है उससे कही ज्यादा पोष्टिक एवं स्वास्थ्य वर्धक भी होता है. यों तो सिंघरे का सेवन कई तरह से किया जाता है जैसे व्रत में सिंघाड़े के आटे की पूड़ियां और हलवा बना कर ख्य जाता है इसे कच्चा खाने का भी अपने एक अलग ही मजा है कुछ लोग इसे उबल कर चटनी के साथ भी खाते है चाहे जैसे हो हो सिंघारा खाना बहुत ही लाभप्रद होता उन लोगो के लिए जो अस्थमा, आँख, बवासीर, या नजला के बीमारी से ग्रसित है। home remedies of piles




दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव परिणाम 2017

जी हाँ सिंघारा में सबसे ज्यादा विटमिन ए, पाया जाता है जो आँखों से सम्बंधित बीमारी के लिए सबसे ज्यादा लाभदायक साबित होताहै इसके आलावा इसमें विटामिन बी और सी भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसमें खनिज लवण और कार्बोहाइड्रेट के गुणों का भी भरपूर श्रोत मिलता है। यही कारण है की आयुर्वेद में सिंघाड़े को औषधि गुणों का खजाना बताया गया है। home remedies of piles

आईये अब हम आपको बताने जा रहे हैं की सिंघारा किन किन बिमारियों में फायदेमंद है और इसका कैसे सेवन करना चाहिए .सिंघारा अस्थमा रोगियों का देशी दावा है : agar kisi ko अस्थमा यानि की दम सांस फूलने की बीमारी हो तो इसे रोगी को एक चम्मच सिंघाड़े के आटे को ठंडे पानी में मिलाकर रोजाना दिन में ३ बार पिलाना चाहिए इससे अस्थमा के मरीजों को काफी फायदा होता है और धीरे धीरे साँस की बीमारी ठीक होने लगती है home remedies of piles

सिंघारा बवासीर या कब्ज रोगियों के लिए फायदेमंद होता है : अगर किसी को बवासीर की समस्या हो या पेट में कब्ज रहती हो तो उन्हें सिंघाड़ा खिलाना चाहिए इससे काफी फायडा मिलाता है। इसका सेवन कैसे करें बिलकुल साधारण है कच्चा सिंघाड़ा नियमित खाईये बस बवासीर की परेशानी एवं कब्ज दोनों दूर हो जायेगी। अगर कच्चे सिंघाड़े न मिले तो आप सिंघरे का आटा की रोटियां बना कर भी खा जा सकते हैं।home remedies of piles

गर्भाशय के लिए : अगर किसी माता बहन का गर्भाशय कमजोर हो तो वे नियमित कच्चा सिंघाड़ा खाएं इससे काफी फायदा होता है। home remedies of piles

सिंघारा मांसपेशियां को मजबूत बनता है : अगर किसी की मंस्पेसियाँ कमजोर हो गयी हो चलने फिरने एवं हाथ से सरे कम करने में परेशानी होती हो तो एसे लोगों को सिंघरे की रोटी बना कर या कच्चा सिंघारा खिलाना चाहिए इससे मांसपेशियां का वीकनेस दूर हो जाता है साथ नसों में भी मजबूती आती है. home remedies of piles

गले की इन्फेक्शन दूर करता है : सिंघारे में आयोडीन भरपूर मात्रा में पाये जाते है जो गले में इन्फेक्शन, घेघा आदि की सिकायत वाले रोगी को सिघारे के आते को दूध में मिला कर पिलाने से गले की सभी तरह के इन्फेक्शन और में लाभ देता है । home remedies of piles

सिंघारा आंखों की रोशनी के लिए रामबन है : जी हां सिंघाड़े में विटमिन ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है यही वजह है की अगर किसीके आखों की रौशनी कम हो रही हो और असमय ही कम दिखाई देने लगी हो तो एसे लोगोंग को सिंघारा खिलाईये उनके आँखों वापस आने लगेगी.

 

हड्डियों को फौलाद बना देगा एक चुटकी तिल