शक्तिशाली बेल के पत्ते जिससे बीमारियां भी घबराती है





नमस्कार दोस्तों आपका बहुत बहुत स्वागत है घरेलु नुस्खा में आज हम आपको गिलोई के फायदे के बारे में बतायेगे लेकन उससे पहले आपको हमरे इस विडियो की हैडिंग यह सोचने पर मजबूर कर रही होगी की आज हम आपको क्या बताने वाले है या क्या खुलासे करने जा रहे है और यह होनी भी चाहिए जो औषधि प्राकृत ने हमे प्रदान की है और आसानी से मिल जाती है जिससे हमारे स्वास्थ को एक नयी दिशा मिल सकती है क्या ऐसे चमत्कारी औषधि के प्रति हमे जागरूक होने की आवश्कता नहीं है bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai





तो आइये सबसे पहले इस गिलोई नमक औषधि के चमत्कारी उपचार से आपको परिचित करवाते है उसके बाद आपको इस हैडिंग के बारे में जानकारी देगे. पहले इस गिलोई नामक अमृत से होने वाले स्वस्थ लाभ जान लीजिये जी है गिलोय इतनी गुणकारी है कि आयुर्वेद में इसका नाम अमृता रखा गया है। इसकी पत्तियां पान की पत्तियां जैसी दिखती हो और इन पत्तियों में कैल्शियम, प्रोटीन, फास्फोरस भरपूर मात्र में पाया जाता है इसके ताने में स्टार्च पाया जाता है जो वात, कफ और पित्तनाशक मणि जाती है इसमें एंटीबायोटिक और एंटीवायरल पाया जाता है गिलोय का सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ने का काम करती है ।bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai 

बबूल का पेड़ औषधि का खजाना है

बुखार में गिलोई को संजवनी बूटी मन जाता है ऐसा कहा जाता है की बुखार उतार पाने में जो सभी dabaiyan फ़ैल हो जाती है तो गिलोई का मात्र २ से ३ काढ़ा पिने से ही बुखार छूमंतर हो जाती है bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai

यह पीलिया से पीड़ित रोगियों के लिए रामबाण है पीलिया को जरे से ख़त्म करने के लिए क्या करें एक पहले गिलोई के ताने को सुखा ले और फिर इसका चूर्ण बना ले अब उसमे ४ कलि मिल्च पिस कर मिला ले मिलाने के बाद इस चूर्ण में एक चमच्च सहद मिला कर सेवन करें ऐसा करने के पीलिया जर से ख़त्म हो जाती है अगर आपके हाथो और पैरों में जलन होती है तो आप गिलोय का इस्तेमाल कर सकते हैं। गिलोय के तने के साथ नीम के पत्ते और आंवला को उबालकर काढ़ा बना और दिन में ३ बार सुबह दोपहर शाम इसका सेवन करें इससे हाथो और पैरों में जलन खत्म होती है खून की कमी दूर करने में भी गिलोई सहायक सभीत होता है इसके लिए गिलोई का रस निकल कर एक एक गिलास पानी में मिला ले और उसमे एक चमच्च देसी घी दल दे अब इसे पिए ऐसा करने से धीरे धीरे आपके खून की कमी दूर हो जाएगी bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai

अगर आपको या आपके किसी जानने वाले चाहे बचे हो या बड़े किसी के भी कान दर्द रहता हो या कान बहता हो तो गिलोय के पत्तों के रस निकल ले और हल्का ग्राम कर २ बूंद कान में डाले इससे कान से संबधित परेशानी दूर हो जाये गी और आपके कान भी प्राकृत रूप से साफ हो जायेगे. bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai

अगर किसी को उल्टियां हो रही हो तो ऐसे लोगों के लिए भी गिलोय बहुत फायदेमंद होता है। गिलोय के रस में शहद मिलाकर पिलाये पेट की गर्मी के कारण से आ रही उल्टी रूक जाती है। bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai

और दोस्तों यह साधारण की दिखने वाली गिलोई उन लोगो के लिए भी फायदेमंद है जो मोटापा कम करना चाहते है इसके लिए करना क्या है आपको किसी वैध या पंसारी की दुकान के त्रिफला चूरन खरीद कर लाना है और गिलोई की डंडियों को उबालकर काढ़ा बनाना है और फिर इसमें एक चमच्च त्रिफला चूर्ण मिलाना है ऐसा करने के मोटापा घटना शुरू हो जाता है . दोस्तों इसके अलावे इस गिलई के और भी कई फायदे है जिनके बारे में हम किसी और दिन जानेंगे तो दोस्तों देखा आपने यह गिलोई कितना फायदेमंद है लेकिन हम इसे परिचित नहीं है जिसका फायदा कुछ कम्पनी उठाकर हमें आसानी से मिलने वाली चीजो को भी इतना मुस्किल बता कर बेचती है और कई गुना ज्यादा दामो पर बेचते है तो आप इस बात पर ध्यान जरूर दे और ऐसे प्रकितिक द्वारा प्रदान की गयी चीजो को दुशरो को भी परिचित करवाए bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai

हमने इस साइट पर जो भी जानकारियां साझा किया है वह किताबी अध्ययन और बड़े बुजुर्गों के अनुभव पर आधारित है। आपसे हमारा सलाह है कि किसी भी नुस्खे को इस्तेमाल करने से पहले अपने पास के आयुर्वेदिक या नैचुरोपैथी डाक्टर से जरूर दिखालें क्योकि हर किसी के शरीर का बनावट एक जैसा नहीं होता है इसलिए सभी पर एक जैसी औषधि असर दिखाए ये जरुरी नहीं है। अतः आपसे अनुरोध है की किसी भी नुस्खे को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। bell ke patte jisse bimariya bhi ghabrate hai

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *